Poetry

  • 90ml Samundar

    150.00
    सुनील साहिल टीवी कॉमेडी शो लेखक एवं कवि-सम्मेलन मंचों पर हास्य-व्यंग्य कवि के रूप में सक्रिय हैं, इंग्लैंड के कई शहरों में काव्य-पाठ का आमंत्रण, रेडियो सनराइज, लन्दन और रेडियो एक्सेल, बिर्मिंघम पर इंटरव्यू प्रसारित, ऍम ए टीवी, लन्दन पर कविताएँ प्रसारित, सब टीवी के शो 'वाह-वाह' में आमंत्रण. 'ये कविताएँ मैंने नहीं लिखी हैं, ये कविताएँ मुझसे अभिव्यक्त हुई हैं, अस्तित्व ने मुझे चुना इन शब्दों, इन भावों का जरिया बनने को, माध्यम बनने को, साधन बनने को, जब मैं मिट गया तो लगा कि अस्तित्व और मुझमें संवाद हो रहा है, एक सम्बन्ध घट रहा है जिसमें ये कुछ सहज अभिव्यक्तियाँ प्रकट हुई, आप हमेशा 'कवि' बने नहीं रह सकते हैं, शायद कुछ पल आप कवि हो जाते हैं जब कविता आपकी रूह की जमीन पर उतरती है, तब आपको अनुभूति होती है कि आपकी देह, आपका मन, आपका जेहन भीतर की यात्रा पर निकला है- बस एक झलक मिलती है सम्बुद्ध होने की और फिर खो जाती है, बस उन्हीं चंद लम्हों का जमावड़ा है - 90 ml समंदर' by सुनील साहिल
     
  • Sale!
    "कैसे चंद लफ्ज़ों में सारा प्यार लिखूँ" एक कविता-संग्रह है, जिसमें प्यार मुहब्बत विषय पर कविता, शायरी, गीत और ग़ज़लें सम्मिलित है | About Author मध्यप्रदेश के मन्दसौर जिले में जन्मे दिनेश गुप्ता 'दिन' पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं | दिनेश गुप्ता की कविताएँ, लेख, गीत और इंटरव्यू देश की कई प्रमुख पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए हैं | शुरुवाती दिनों में कविता इनका शौक हुआ करती थी, इन दिनों जुनून है और वो लेखन को ही अपना पेशा बनाने को लेकर खासे उत्साहित हैं | इंजीनियर और कवि थोड़ा मुश्किल मिश्रण लगता है, जब दिनेश से पूछा जाता है तब वो कहते हैं: "इंजीनियरिंग मेरा पेशा है परन्तु कविता मेरा जुनून है, शब्द मेरी रगों में खून बनकर दौड़ते हैं और कविता मेरी नसों में बहती है" अपनी चेतना और अनुभूति की अभिव्यक्ति भर हैं कविता | इनकी कुछ रचनाएँ आप यहाँ देख सकते हैं by Dinesh Gupta
    [scrapeazon asin="8192955532" width="500" height="400" border="true" country="us"]